गाजियाबाद पहुंची भारत की पहली निडल फ्री वैक्सीन जायकोव-डी की पहली खेप


गाजियाबाद ब्यूरो। कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई को मजबूती देने के लिए भारत निर्मित जायकोव डी वैक्सीन की पहली खेप गाजियाबाद पहुंच गई है। यह एक निडल फ्री वैक्सीन है जिसे जेट इंजेक्टर के जरिए कंधे पर लगाया जाएगा। इससे सुई चुभने का दर्द महसूस नहीं होगा। जिले में मंगलवार को 20 वैक्सीनेटर्स के लिए एक ट्रेनिंग सेशन भी आयोजित किया गया जहां प्रशिक्षकों को वैक्सीन कैसे लगानी है, इसके बारे में बताया गया।
भारत में कोविड रोधी अन्य वैक्सीन ऑक्सफर्ड आस्ट्राजेनेका की कोविशील्ड, भारत बायोटेक की कोवैक्सीन और रूस की बनी स्पूतनिक वी की तरह जायकोव डी में इंजेक्शन की जरूरत नहीं पड़ती। इसे निडल फ्री ऐप्लिकेटर के जरिए लगाया जाएगा, जिससे यह दर्द रहित होगी।
जायडस कैडिला द्वारा निर्मित वैक्सीन जायकोव डी एक प्रकार की प्लाज्मिड डीएनए वैक्सीन है जो डीएनए के इस्तेमाल से बनाई जाती है। इसे स्पाइक प्रोटीन ने बनाया जाता है जो कोरोना से शरीर को लड़ने की इम्यूनिटी देता है। कंपनी द्वारा दिए गए डेटा के अनुसार, यह वैक्सीन कोरोना के खिलाफ 66.6 फीसदी से अधिक प्रभावी है।
उत्तर प्रदेश उन सात राज्यों में है जहां पहली बार यह वैक्सीन इस्तेमाल की जाएगी। यूपी के आगरा, अलीगढ़, अयोध्या, आजमगढ़, बरेली, गाजियाबाद, गोरखपुर, कानपुर नगर, लखनऊ, मेरठ, मुरादाबाद, प्रयागराज, सहारनपुर और वाराणसी में यह वैक्सीन उपलब्ध रहेगी।
गाजियाबाद में जायकोव डी की 33,500 डोज प्राप्त हुई हैं। यह वैक्सीन 18 साल से ऊपर की उम्र वाले लोगों पर इस्तेमाल की जाएगी जिन्होंने अब तक एक भी डोज नहीं ली है। जिन केंद्रों में वैक्सीन कवरेज कम है जैसे डासना, भोजपुर, खोड़ा और लोनी में जायकोव डी की डोज लगाई जाएगी। यह तीन डोज वाली वैक्सीन है।
कंधों पर लगाई जाएगी वैक्सीन
डब्ल्यूएचओ के सर्विलांस मेडिकल ऑफिसर डॉ. अभिषेक कुलश्रेष्ठ का कहना है कि वैक्सीन एक इंजेक्टर के जरिए दोनों कंधों पर लगाई जाएगी। यह दर्दरहित प्रक्रिया होगी। इसलिए जो लोग सुई के चलते वैक्सीन लगवाने में हिचक रहे हैं उनके लिए यह वैक्सीन सुविधाजनक रहेगी।
गाजियाबाद के जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. नीर अग्रवाल ने बताया कि रोलआउट का दिन अभी निर्धारित नहीं है। हालांकि गाजियाबाद के 10 केंद्रों में यह वैक्सीन उपलब्ध रहेगी। इसे फार्माजेट ऐप्लिकेटर की मदद से लगाया जाएगा। पहली डोज के 28 दिन बाद दूसरी डोज और 56 दिन बाद तीसरी डोज लगाई जाएगी।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर