नोएडा में रिश्वत लेकर बदमाशों को छोड़ने के आरोपी एसओजी टीम के इंस्पेक्टर शावेज खान और सिपाही अंबरीश यादव बर्खास्त


नोएडा ब्यूरो।  गौतमबुद्ध नगर पुलिस कमिश्नर ने सोशल मीडिया पर वायरल हुए प्रकरण की जांच के बाद एसओजी टीम के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। एसओजी के प्रभारी इंस्पेक्टर शावेज खान और कांस्टेबल अमरीश यादव को बर्खास्त कर द‍िया है। कमिश्ररेट गौतमबुद्ध नगर की पूरी स्वाट टीम को भंग कर लाइन हाजिर कर दिया है। साथ ही उनकी संपत्तियों की जांच के निर्देश भी पुलिस अधिकारियों की तरफ से दिए गए हैं। प्रभारी इंस्पेक्टर और कांस्टेबल पर आरोप है कि इन इन दोनों ने एटीएम हैकरों से 20 लाख रुपये और एक क्रेटा कार लेकर उन्हें छोड़ दिया था। गाजियाबाद में हैकरों के पकड़े जाने के बाद खुलासा हुआ था।
दरअसल गाजियाबाद की इंदिरापुरम कोतवाली पुलिस ने एटीएम हैक करने वाले एक गैंग का खुलासा किया है। इसके बाद यह पूरा मामला सामने आया है। इंदिरापुरम पुलिस की एटीएम हैकरों से पूछताछ के दौरान सामने आया है कि उनकी एक क्रेटा कार नोएडा पुलिस टीम के पास है। इस गिरोह को नोएडा पुलिस ने तीन माह पहले पकड़ा था। पकड़े गए एटीएम हैकरों को 20 लाख और एक क्रेटा कार लेकर उन्हें छोड़ दिया। उस दौरान एसओजी की टीम ने हैकरों से 50 लाख रुपये की मांग की थी। लेकिन उनके पास 10 लाख रुपये नकद थे। बाद में एसओजी की टीम उनके पास से 10 लाख और एक क्रेटा कार लेकर आई थी। इसका सीसीटीवी फुटेज भी गाजियाबाद पुलिस ने बरामद किया है। उधर, गाजियाबाद पुलिस की तरफ से पूरे मामले की रिपोर्ट डीजीपी दफ्तर भेजी थी। पुलिस कमिश्नर आलोक कुमार ने पूरे प्रकरण की जांच डीसीपी क्राइम अभिषेक को सौंपी गई। इसके आधार पर इंस्पेक्टर और कांस्टेबल को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है। पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह का कहना है कि अभी अन्य टीम के खिलाफ भी मामले की जांच की जा रही है। उनकी संपत्ति की भी जांच कराई जा रही है।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर