रेलवे में नौकरी लगवाने के नाम पर ठगी करने वाला फर्जी सचिव गिरफ्तार


नोएडा ब्यूरो। बीटा दो कोतवाली क्षेत्र स्थित पी थ्री गोलचक्कर के समीप से पुलिस ने शातिर ठग कार्तिकेय शर्मा निवासी बुलंदशहर को गिरफ्तार किया है। वह रेलवे में नौकरी लगवाने का झांसा देकर सात से दस लाख रुपये की ठगी करता था। आरोपित खुद को उत्तर रेलवे में सचिव बताता था। लंबे समय से आरोपित ठगी कर रहा था। उसने रौब झाड़ने के लिए गाड़ी पर भारत सरकार लिखवाया हुआ है और लाल-नीली बत्ती लगाई हुई है। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया। वहां से उसे जेल भेज दिया गया है।
पुलिस ने बताया कि आरोपित ने कुछ दिनों पहले रबूपुरा के रहने वाले व्यक्ति को रेलवे में क्लर्क की नौकरी लगवाने का झांसा दिया। आरोपित ने चालीस हजार एडवांस ले लिए थे और सात किश्तों में एक-एक लाख रुपये लेने वाला था। रुपये देने के बाद कई बार फोन करने पर आरोपित कार्तिकेय ने कहा कि वह अधिकारियों की बैठक में है। फोन पर शक होने पर पीड़ित ने पुलिस से संपर्क किया। पुलिस ने जांच की तो पता चला कि आरोपित रेलवे में अधिकारी नहीं बल्कि शातिर ठग है। पुलिस ने सूचना के आधार पर आरोपित को धर दबोचा। आरोपित ने रबूपुरा निवासी पीड़ित से 40 हजार रुपये एडवांस लेने के अलावा उसकी हाइस्कूल, इंटर व ग्रेजुएशन की मार्कशीट भी जबरन रख ली थी। पुलिस पर भी झाड़ा रौब
पुलिस ने बुधवार सुबह जब आरोपित को पी थ्री गोलचक्कर के समीप से पकड़ा तो वह पुलिस पर रौब झाड़ने लगा। वह खुद को रेलवे का अधिकारी बताकर देख लेने की धमकी देने लगा। पुलिस ने शिकंजा कसा तो आरोपित ने तुरंत ठगी करने की बात स्वीकार कर ली। रेलवे में नौकरी लगवाने का झांसा देकर आरोपित ठगी करता था। उसने फर्जी तरह से क्रेटा पर भारत सरकार लिखवाया हुआ था और लाल-नीली बत्ती लगाई गई थी।-अनिल राजपूत, बीटा दो कोतवाली प्रभारी


Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर