सिखों को थी बदनाम करने की साजिश! बुली बाई केस में गिरफ्तार आरोपी का खुलासा, 10 जनवरी तक पुलिस कस्टडी


  • बुली ऐप मामले में गिरफ्तार विशाल कुमार को अदलात में पेश किया गया
  • विशाल को मुंबई पुलिस ने बंगलुरू से हिरासत में लिया था
  • इस मामले में एक और महिला को उत्तराखंड से हिरासत में लिया गया है
  • इस मामले में और भी लोगों की गिरफ्तारी हो सकती है
मुंबई ,(महाराष्ट्र)। बुली एप से संबंधित या उसे चलाने वाले लोगों पर धीरे-धीरे शिकंजा कसता जा रहा है। इस मामले में मुंबई पुलिस की साइबर सेल ने एक 21 वर्षीय इंजीनियरिंग के छात्र विशाल कुमार को सोमवार के दिन बेंगलुरु से गिरफ्तार किया था। इस आरोपी से पुलिस की टीम लगातार पूछताछ करने में जुटी हुई थी। पूछताछ में पुलिस को यह पता चला कि इस मामले की प्रमुख आरोपी एक महिला है जिसे फिलहाल उत्तराखंड में हिरासत में लिया गया है। इस बीच गिरफ्तार आरोपी विशाल को 10 जनवरी तक पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया है।
पुलिस की जांच में यह भी पता चला है कि दोनों ही आरोपी यानी 21 वर्षीय छात्र और महिला एक दूसरे को जानते थे। आरोपी महिला बुली एप से संबंधित तीन अकाउंट चलाती थी। इस मामले में सह आरोपी विशाल ने सबसे पहले खालसा सुपरमसिस्ट नाम से अकाउंट खोला था। जांच में यह भी पता चला कि 31 दिसंबर को विशाल ने बाकी अकाउंट के नाम भी बदल दिए थे। जिससे यह लगे कि यह सिख नाम से संबंधित अकाउंट है। हालांकि बाद में पता चला कि ये सभी फेक खालसा अकाउंट होल्डर के नाम हैं।
उत्तराखंड से हिरासत में ली गई इस महिला को ट्रांजिट रिमांड के बाद क्राइम ब्रांच मुंबई लेकर आएगी। इस बात की भी संभावना है कि दोनों ही आरोपियों को मुंबई पुलिस आमने-सामने बैठाकर पूछताछ कर सकती है। पुलिस को जानकारी मिली है कि दोनों की दोस्ती सोशल मीडिया के जरिए हुई थी।
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक गिरफ्तार महिला के एक और पुरुष मित्र की तलाश मुंबई पुलिस कर रही है। जो फिलहाल फरार बताया जा रहा है। पुलिस इस बात की भी छानबीन में जुटी हुई है कि आखिर इस पूरे गिरोह का मास्टरमाइंड का कौन है कितने लोग इस गैंग में शामिल हैं।
ऐप में मुस्लिम महिलाओं की बोली
गौरतलब है कि बुली बाई ऐप के जरिए मुस्लिम समुदाय की महिलाओं की तस्वीरें लगाकर उनकी कथित तौर पर बोली लगाने का आरोप है। इस मामले में शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी की शिकायत पर पश्चिम प्रादेशिक क्षेत्र साइबर पुलिस ने गिटहब पर होस्ट किए गए 'बुल्ली बाई' ऐप डिवेलपर के खिलाफ रविवार को मामला दर्ज किया गया था।
दिल्ली पुलिस ने भी मांगी डिटेल
दिल्ली पुलिस ने भी यह मोबाइल ऐप डिवेलप करने वाले की जानकारी मांगी है। साथ ही, ट्विटर को इससे जुड़ा आपत्तिजनक कंटेंट हटाने को कहा है। इससे पहले, दिल्ली महिला आयोग चीफ स्वाति मालीवाल ने डिप्टी पुलिस कमिश्नर, साइबर क्राइम सेल को 6 जनवरी को तलब कर दोषियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की। आयोग ने दिल्ली पुलिस से 'सुल्ली डील' और 'बुली बाई' दोनों मामलों में गिरफ्तार लोगों की लिस्ट और कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी है।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर