सेना के अदम्य साहस की याद दिलाएगा भारतीय सेना का टी-55 टैंक


गाजियाबाद ब्यूरो।  वर्ष 1971 के युद्ध में पाकिस्तानी सेना की नींद उड़ाने वाले भारतीय सेना के टी-55 टैंक से अब शहर के लोग भी रूबरू हो सकेंगे। सेल्फी भी ले सकेंगे। इस टैंक को मेरठ रोड तिराहा स्थित शहीद स्थल पर स्थापित किया गया है। मंगलवार को केंद्रीय राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह ने इसका लोकार्पण किया।
केंद्रीय राज्यमंत्री के विशेष सहयोग के कारण यह टैंक गाजियाबाद नगर निगम को सेना से निश्शुल्क मिला है। लोकार्पण के दौरान केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारतीय सेना ने 1971 के भारत-पाक युद्ध में टी-55 टैंक का बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया था। इन टैंकों को भारत ने पूर्वी और पश्चिमी दोनों मोर्चों पर इस्तेमाल किया। पूर्वी मोर्चे पर 10-11 दिसंबर को नैनाकोट की लड़ाई के दौरान भारतीय टी-55 टैंकों ने बिना किसी नुकसान के नौ पाकिस्तानी टैंकों को नष्ट किया। पश्चिमी मोर्चे पर चार-16 दिसंबर के बीच बसंतर और बारपिड की लड़ाइयों में पाकिस्तान के 46 एम-47 टैंकों को नष्ट किया था। इस टैंक को युद्धक ट्राफी के रूप में गाजियाबाद में स्थापित किया जा रहा है। 
जिले में टैंक लगने पर लोगों ने सेल्फी ली और इंटरनेट मीडिया पर फोटो अपलोड कर खुशियां जताई। भाजपा के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष मयंक गोयल ने कहा टैंक लोगों को देश की सेवा के लिए प्रेरित करेगा। दिल्ली से मेरठ आने वाले लोग और खासतौर पर युवा वर्ग के लोग टैंक को देखकर सेना में भर्ती होने के लिए प्रोत्साहित होंगे। यह टैंक जिले की प्रमुख धरोहरों में से एक है। 1971 में भारतीय सेना ने जिस जज्बे के साथ पाकिस्तान को धूल चटाई थी, उस लम्हे की याद यह टैंक आने वाली पीढि़यों को भी दिलाता रहेगा। शहीद स्थल की दीवारों पर सेना के जवानों के चित्र भी बनाए गए हैं।
नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। अशोक चक्र विजेता शहीद मेजर मोहित शर्मा के पिता राजेंद्र कुमार शर्मा को शाल पहनाकर केंद्रीय राज्यमंत्री ने सम्मानित किया। मौके पर जिलाधिकारी राकेश कुमार, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पवन कुमार, उद्यान प्रभारी डा. अनुज कुमार सिंह, नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा. मिथलेश कुमार, भाजपा के मीडिया प्रभारी अश्वनी शर्मा सहित अन्य मौजूद रहे।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर