दिल्ली में ब्याज की वसूली करने गए पहलवान की देनदार ने जमकर कर दी धुनाई


नई दिल्‍ली डेस्क। मजनू का टीला स्थित संजय अखाड़े में दो मल्ल पहलवानी के दांव-पेच सीख रहे हैं। इनका तीसरा पहलवान साथी ब्याज का काम करता है। इसने न्यू उस्मानपुर के एक जानकार को 50 हजार रुपये दे रखे थे। वह पैसे नहीं लौटा रहा था। काफी तकादा करने के बाद उसने आकर रकम ले जाने को कहा। लेनदार पहलवान शहर में मौजूद नहीं था, इसलिए उसने अपने साथी पहलवानों को पैसे लेने भेज दिया। देनदार ने पैसे तो नहीं दिए, लेकिन दोनों पहलवानों को जमीन पर गिरा-गिराकर पीटा। दोनों पहलवान सीधे संजय अखाड़े आकर रुके, यहीं से पुलिस को कॉल किया। शास्त्री पार्क थाना पुलिस केस दर्ज कर आरोपियों की तलाश कर रही है।
सुरेंद्र सिंह (34) हरियाणा के पानीपत के रहने वाले हैं। वह मजनू का टीला स्थित संजय अखाड़ा में पहलवानी सीख रहे हैं। यहीं उनके गांव का रोहित भी कुश्ती के गुर सीखता है, जो ब्याज पर पैसे देने का काम भी करता है। सुरेंद्र और रोहित का जानकार धीरज उर्फ बबलू है, जो न्यू उस्मानपुर इलाके में रहता है। सुरेंद्र ने पुलिस को बताया कि बबलू ने छह महीने पहले रोहित से 50 हजार रुपये ब्याज पर लिए थे। लेकिन वह पैसे नहीं लौटा रहा था।
आरोप है कि बबलू ने रोहित को कॉल कर पैसे ले जाने के लिए बुलाया। रोहित का कॉल आया कि वह गांव जा रहा है और रास्ते में है। इसलिए सुरेंद्र को पैसे लेकर आने को कह दिया। सुरेंद्र और उनका दोस्त रवींदर पैसे लेने के लिए चले गए। शास्त्री पार्क तीसरे पुश्ते की पार्किंग के करीब बबलू अपने 2-3 साथियों के साथ मिला। सबसे हाथों में लाठी-डंडे थे। आरोप है कि बबलू और उसके साथी दोनों को गाली देने और पीटने लगे। धमकी दी कि दोबारा पैसे लेने आओगे तो जान से मार दूंगा। सुरेंद्र ने बताया कि वह और रवींदर भी अपनी जान बचाकर सीधे संजय अखाड़ा आकर रुके। यही से पुलिस को कॉल किया।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर