नाबालिग गैंगरेप पीड़‍िता ने बच्‍ची को दिया जन्‍म, पिता का पता लगाने को डीएनए टेस्‍ट कराएगी पुलिस


नई दिल्ली। साउथ ईस्ट जिले के हजरत निजामुद्दीन इलाके में रहने वाली एक नाबालिग से करीब आठ महीने पहले दो युवकों ने गैंगरेप किया। लड़की के प्रेग्नेंट होने पर परिवार को इसका पता चला। इस मामले में 29 नवंबर 2021 को पुलिस से शिकायत की गई। हजरत निजामुद्दीन थाने में मुकदमा दर्ज किया गया। प्रेग्नेंट हुए ज्यादा समय होने से लड़की का अबॉर्शन नहीं कराया जा सका। अब 17 साल की लड़की ने मंगलवार को एक अस्पताल में बेटी को जन्म दिया है। लेकिन इस बच्चे के भविष्य को लेकर तमाम सवाल खड़े हो गए हैं। मसलन, क्या अब नाबालिग मां उसके लिए माता-पिता की दोहरी भूमिका निभाएगी?
पुलिस सूत्रों ने बताया कि हजरत निजामुद्दीन इलाके में रहने वाली पीड़िता ने पिछले साल नवंबर में शिकायत दी थी। लड़की ने बताया था कि दो लड़कों ने उसके साथ करीब पांच-छह महीने पहले रेप किया था। लड़की उस समय प्रेग्नेंट थी, जिससे उसके घरवालों को वारदात का पता चला। इसलिए पुलिस को कंप्लेंट दी गई। आरोप था कि अश्लील फोटो-विडियो बनाकर आरोपियों ने ब्लैकमेल भी किया। पुलिस ने लड़की का मेडिकल कराया और काउंसिलिंग कराने के बाद 29 नवंबर 2021 को मुकदमा दर्ज कर लिया। वह मामले की छानबीन में जुट गई।
मंगलवार सुबह नाबालिग के पेट में तेज दर्द हुआ। परिजन एम्स लेकर आए थे, जहां डॉक्टरों ने पहले भर्ती करने से मना कर दिया था, लेकिन बाद में एडमिट कर लिया गया। परिजनों ने बताया कि गैंगरेप पीड़िता नाबालिग ने एक बेटी को जन्म दिया। परिजनों के सामने अजीबोगरीब स्थिति बन गई है। उन्होंने दावा किया कि पुलिस ने अब तक दोनों आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया है।
डीसीपी (साउथ ईस्ट) ईशा पांडेय ने बताया कि शिकायत मिलने के तुरंत बाद हजरत निजामुद्दीन थाना पुलिस ने 29 नवंबर 2021 को आईपीसी की धारा 354/354C/376/34 और पॉक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया था। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इनकी शिनाख्त नुब्रता उर्फ नूर अख्तर और नीलचंद उर्फ बादशाह के तौर पर हुई है। दोनों असम के मूल निवासी हैं। पुलिस सूत्रों ने बताया कि बच्चे का डीएनए टेस्ट करवा कर उसके असली पिता का पता लगाया जाएगा। पुलिस का दावा है कि यह गैंगरेप का नहीं, बल्कि दो लड़कों के अलग-अलग समय में रेप करने का केस है।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर