वाराणसी में सिर कूंचने के बाद तेजाब से जलाया, फावड़े के विवाद में नारियल विक्रेता की हत्या


वाराणसी,(उत्तर प्रदेश )। वाराणसी के चितईपुर थाना के भिखारीपुर हाईडिल स्थित शौचालय के पास नारियल की दुकान वाले रामसजीवन जायसवाल(30) वर्ष की सोमवार रात सिर कूंचकर हत्या कर दी गई। पहचान छुपाने के लिए चेहरे को तेजाब से जलाया गया। पुलिस ने शौचालय के पास मिले शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस के अनुसार, फावडे़ के विवाद में आरोपी केयर टेकर ने नारियल विक्रेता की सिर कूंचकर हत्या कर दी। परिजनों की तहरीर पर चितईपुर पुलिस ने मंगलवार को आरोपी को गिरफ्तार किया।
भेलूपुर थाना क्षेत्र के ककरमत्ता स्थित न्यू कॉलोनी निवासी रामसजीवन जायसवाल ऑटो चलवाने के साथ ही भिखारीपुर हाईडिल स्थित शौचालय के पास ठेले पर नारियल की दुकान लगाता था। सोमवार की रात नौ बजे रामसजीवन अपने ऑटो चालक राजेश के लिए घर से खाने का टिफिन लेकर अपने नारियल पानी की दुकान के लिए निकला। इसके बाद भी दुकान पर नहीं पहुंचा।
मंगलवार सुबह शौचालय स्थित एक गुमटी के पीछे उसका खून से लथपथ शव देख लोगों ने पुलिस को सूचना दी। इसके बाद चितईपुर थाने की पुलिस और एसीपी भेलूपुर, डॉग स्क्वायड और फॉरेंसिक टीम ने पहुंच छानबीन की। तब तक परिजन भी मौके पर पहुंचे और शौचालय केयर टेकर पर हत्या का आरोप लगाया।
डॉग स्क्वायड ने 50 मीटर दूर स्थित एक खाली प्लॉट से खून से सना गमछा और बाल्टी बरामद की। वहीं रामसजीवन के भाई दीपक कुमार ने शौचालय केयर टेकर पर हत्या का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस के अनुसार, तफ्तीश के दौरान सामने आया कि शौचालय का केयर टेकर खोजवा निवासी अजय गुप्ता से रामसजीवन की बनती नहीं थी।
आए दिन दोनों के बीच में विवाद होता था। गिरफ्तार विशाल ने पूछताछ में बताया कि सोमवार को रामसजीवन से फावड़े को लेकर विवाद हुआ था। रात में शौचालय पर पहुंच रामसजीवन नशे में धुत होकर गाली गलौज करने लगा और इस दौरान मारपीट हुई तो रामसजीवन का गला कसकर दीवार में सिर कई बार लड़ाकर मौत के घाट उतार दिया। आरोपी विशाल ने पुलिस को बताया कि रामसजीवन आए दिन बिना पैसा दिए शौचालय का उपयोग करता था और पैसा मांगने पर गाली-गलौज करता था। पुलिस की पूछताछ में आरोपी अजय गुप्ता ने बताया कि हत्या करने के बाद शौचालय में फैले खून की साफ-सफाई कराई गई। रात दो बजे साफ-सफाई करने के बाद खोजवा स्थित मकान पर चला गया।
 डीसीपी काशी आरएस गौतम की पूछताछ में नारियल विक्रेता रामसजीवन के भाई दीपक कुमार ने बताया कि शौचालय केयर टेकर अजय गुप्ता बेवजह ही रंजिश रखता था। दो दिन पूर्व भी रामसजीवन से विवाद होने पर आरोपी अजय गुप्ता मारने की नियत से त्रिशूल लेकर दौड़ाया था। उधर, रामसीजवन की पत्नी लक्ष्मीना देवी सहित अन्य परिजन बेसधु रहे। रामसजीवन की एक बेटी प्रिया, बेटा प्रियांशु, प्रिंस और देव है। पत्नी लक्ष्मीना देवी ट्यूमर से पीड़ित है। इसका इलाज चल रहा है। घर की पूरी जिम्मेदारी रामसजीवन के ऊपर ही थी। रामसजीवन तीन भाइयों में दूसरे नंबर का था। उसके बड़े भाई की छह माह पहले मौत हो गई थी।
भिखारीपुर चौराहे से हाईडिल तक मंडुआडीह थाना और चितईपुर थाना क्षेत्र में दिन व रात नशेड़ियों और जुआड़ियों का अड्डा रहता है। आसपास कालोनियों और फ्लैट में रहने वाले लोग इनके कृत्य से परेशान हैं। भिखारीपुर पोखरे के पास दूर दूर से जुआ खेलने के साथ ही गांजा और शराब का सेवन करने आते हैं। इनके कृत्यों के कारण यहां मंदिर पर आने वाली महिलाओं को भी काफी असुविधाएं होती है। आसपास के लोगों ने बताया कि नशेबाजों का यहां अड्ड़ा बन गया है। सुंदरपुर पुलिस चौकी और फैंटम के सिपाहियों को सूचना देने के बाद भी कोई असर नहीं पड़ता। घटना स्थल पर शौचालय के भीतर से पुलिस ने खाली शराब की बोतलें और चखना के साथ ही ग्लास और सिगरेट भी बरामद किया गया। 

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर