आधी रात पराठे बनाने से इनकार पर रेस्तरां संचालक की हत्या


नोएडा ब्यूरो। नाइट कर्फ्यू और पुलिस के अलर्ट के बीच शनिवार तड़के बीटा-2 थाना क्षेत्र स्थित शॉपिंग कांप्लेक्स में रेस्तरां संचालक की दो गोलियां मारकर हत्या कर दी गई। दो पुराने ग्राहकों ने शुक्रवार आधी रात के बाद पराठों के लिए रेस्तरां खोलने की मांग थी, लेकिन संचालक के इनकार करने पर विवाद हो गया। दो घंटे बाद पिस्टल लेकर पहुंचे दो युवकों ने रेस्तरां में घुसकर वारदात को अंजाम दिया और फरार हो गए। पुलिस ने दोनों आरोपियों को पिस्टल के साथ गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस के मुताबिक, मूलरूप से धौलाना, हापुड़ के गांव पारपा निवासी कपिल राणा (27) ग्रेनो में आनंद आश्रय सोसाइटी में रहता था। कपिल लगभग सात साल से ओमेक्स आर्केड शॉपिंग कांप्लेक्स में एसआर फूड सर्विस के नाम से रेस्तरां चला रहा था और ऑनलाइन बुकिंग कर होम डिलीवरी करता था। शुक्रवार देर रात लगभग 1:30 बजे बुलंदशहर के अगौता निवासी आकाश उर्फ अक्कू और योगेंद्र उर्फ योगी शॉपिंग कांप्लेक्स में कपिल के पास पहुंचे। कर्मचारी किचन की साफ-सफाई कर रहे थे। दोनों आरोपियों ने पहले कोल्ड ड्रिंक की मांग की और फिर रेस्तरां खोलकर पराठे बनाने के लिए कहा। कपिल ने रेस्तरां खोलने व पराठे बनवाने से इनकार कर दिया। इस पर आरोपियों ने कपिल से झगड़ा शुरू कर दिया और धमकी देकर चले गए। आरोपी तड़के 3:30 बजे फिर वहां पहुंचे और रेस्तरां में घुसकर पिस्टल से दो गालियां कपिल के सीने पर बायीं तरफ मार दीं। कर्मियों की सूचना पर पुलिस कपिल को निजी अस्पताल ले गई, लेकिन यहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
कपिल की हत्या के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। परिजनों ने बताया कि कपिल का विवाह चार साल पहले हुआ था। पत्नी आठ माह की गर्भवती है और सात माह से मायके में रह रही है। शादी के तीन वर्ष बाद गर्भवती होने पर उसे मायके में रहने के लिए भेजा गया था।
कपिल के पिता रात 12 बजे तक रेस्तरां पर ही मौजूद थे, लेकिन सर्दी और रात अधिक होने से कपिल ने पिता को घर भेज दिया था। कपिल की बड़ी बहन सरिता शिरडी गई हुई थी। सरिता ने देर रात कपिल से बात कर नववर्ष की शुभकामनाएं दीं थी। आनंद आश्रय सोसाइटी में कपिल के फ्लैट के पास एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव होने से कपिल और पिता अंसल गोल्फ लिंक सोसाइटी में रह रहे थे। यहां कपिल पीजी भी चलाता था।
पुलिस के मुताबिक, आरोपी आकाश सेक्टर-135 में किराये पर रहता है और योगेंद्र अल्फा सेक्टर में रहता है। आरोपियों ने अल्फा सेक्टर में ही पार्टी की थी। आरोपी पैदल ही कपिल के रेस्तरां पर अवैध पिस्टल लेकर पहुंचे और वारदात को अंजाम दे दिया। आला अधिकारियों के निर्देश पर पूरे जिले में रातभर पुलिस अलर्ट पर थी। ऐसे में नाइट कर्फ्यू में रेस्तरां खुलने और आरोपियों के बेखौफ परी चौक के पास से पिस्टल लेकर जाने पर सुरक्षा पर सवाल उठ रहे हैं।


Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर